Blockchain क्या होता है और कैसे काम करता है । What is Blockchain Technology in Hindi

Blockchain क्या है ( what is blockchain in hindi) इस बारे में आज के समय मे हर कोई जानना चाहता है। जब से लोगो को bitcoin के बारे में पता चला है हर कोई blockchain technology को पढ़ना चाहता है , ये blockchain technology क्या होती है और कैसे काम करती है अगर आप भी इसके बारे में जानना चाहते है या सर्च कर रहे है blockchain technology in hindi तो इस आर्टिकल में आपको blockchain से रिलेटेड सारी जानकारी दी गयी है।

Blockchain Technology क्या होती हैं what is blockchain technology in Hindi

आप सभी bitcoin के बारे में जरुर जानते होंगे पर क्या आप जानते है बिटकॉइन किस technology पर काम करती है। यदि नहीं जानते तो कोई problem नहीं है। हम इस आर्टिकल में आपकों ‘Blockchain Technology’ के बारे में बताएंगे जिसके उपर bitcoin work करता है।

Bitcoin के अलावा और भी जो Cryptocurrency है जिन्हें हम Alt Coins कहते है वो भी blockchain पर ही work करती है। हम आने वाले सालों में blockchain technology को हमारे चारों ओर देख पायेंगे, आज के time में दुनिया की बड़ी बड़ी companies भी blockchain का use अपने Business में करती है।

Blockchain Features and Benefits

Blockchain कई सारी chain से बना block का एक Data Base होता है, जो block में जानकारी इकट्ठा करता है।  DataBase का सबसे बड़ा benefit यह होता है की एक ही बार में कई सारे लोग इसका use कर सकते है, blockchain का मकसद ही digital information को record करना और easy way में लोगो तक पहुचना होता है।

लेकिन एक बार जो information blockchain में जमा हो गई उसको वापस से बदला नहीं जा सकता  है। साथ ही में blockchain Decentralized होने की वजह से यह किसी एक व्यक्ति या संस्था के control में नहीं होती है जो की इसको सबसे अलग और अनोखा बनाता है। 

जो information आम तौर पर computer में रखी जाती है उसको easily से बदला भी जा सकता है।क्योंकी वो एक व्यक्ति या संस्था के control में होती है। जिसकी वजह से फ्रॉड करना काफी ज्यादा easy हो जाता है।

Blockchain information को group में जमा करता है और हर एक block की Information को इकट्ठा करने की capacity होती है जैसे ही एक ब्लाक में information पूरी तरह से भर जाती है वह दुसरे block से जाकर जुड़ जाता है और इसी तरह से यह प्रक्रिया चलती  ही रहती है। जिससे एक  बड़ी Data की chain बन जाती है जिसे की हम ब्लॉकचेन कहते है।

02

Types Of Blockchain Technology

Public Blockchain

Public Blockchain  का use कोई भी आसानीसे कर सकता है। Bitcoin, Ethereum, Lite coin आदि सभी Public Blockchain होती है, इसमें जो भी information network में collect होती है वो एक जगह स्टोर न होकर  के कई सारे computer में स्टोर होती है जिनको Nodes कहा जाता है। यदि आपके पास अच्छा internet connection है तो आप भी  Public Blockchain का हिस्सा बन सकते हो जिसके बाद आपके पास जो भी गतिविधि अभी तक उस नेटवर्क में हुई है उसका सारा record आपको मिल जाएगा और साथ ही में आप माइनिंग भी कर सकते हैं।

Private Blockchain

जिस तरह से Public Blockchain एक Open Source होता है Private Blockchain इसका ठीक opposite होता है । यह एक प्रकार का Closed Source network होता है। जिसका use करने के लिए आपको Permission लेनी पड़ती है। क्योंकी इसको एक single party control करती है।इसी लिए चुने हुए लोग ही इस network का use कर पाते हैं।हालांकि Private Blockchain काम Public Blockchain के जैसे करती है लेकीन यह एक limit के अंदर रहकर काम करती है ताकि हर कोई इसका use न कर सके। इसका use company या संस्था वोटिंग,supply chain प्रबंध या फिर digital पहचान का use करने करती है. Hyperledger, Multichain, Ripple, private blockchain का example है।

Hybrid Blockchain

Hybrid Blockchain public blockchain और private blockchain से मिलकर बना होता है। यह Private Permission और Public Permission less दोनों system का use करती है। जिसकी help से कोई भी संस्था यह तय कर सकती है की कौन सी जानकारी को public रखना चाहिए और किसे private। Hybrid Blockchain में जो भी record और लेना देना होता है उसको public नहीं किया जाता लेकिन उसको public blockchain में Terrify किया जा सकता है। Dragonchain, Hybrid Blockchain का ही example होता है।

Read Also : क्रिप्टोकरेंसी क्या है? क्रिप्टोकरेंसी कितने प्रकार की होती है?

Blockchain Technology कैसे काम करती है?

Block

हम जानते है की Blockchain  कई सारे Block से मिलकर बनता है। जिसके अंदर डाटा इकट्ठा होता है, हर Block का एक  hash नंबर होता है जो की पिछले ब्लाक से जुडा  होता है और ये hash तब बनता है जब किसी प्रकार का लेन होता है।

Blockchain Hash

यदि कोई इन block के साथ छेड़ छाड़ करने की try करता है तो ये hash नंबर बदल जाता है।जिससे बड़े ही आसानी से पता चल सकता है की block के साथ  छेड़ छाड़ की गई है।

Miners

Blockchain में Miner का सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण रोल माना जाता है क्योंकी Miner ही है जो की नए ब्लाक को Mining करके बनाता है। Example के लिए जब भी bitcoin या किसी भी क्रिप्टोकरेंसी में कोई लेन देन/Transaction होती है, तो उस लेन देन की information सबसे पहले माइनर के पास ही जाती है।

माइनर इस information को verify करता है, अब इसके लिए माइनर को उस block में जो Transaction Data है उसकी information निकालनी पड़ती है जो की एक Mathematical Puzzle के जैसे होती है जिसको केवल कंप्यूटर की मदद से solve किया जाता है।

Nodes

Blockchain Technology की जो सबसे बड़ी speciality होती है वो है Decentralization यानी के इसको कोई एक व्यक्ति या संस्था control नहीं करती। ब्लॉकचेन एक account book की जैसे होती है जो हर प्रकार की information को जमा करके रखती है।

इस account book को Nodes maintain करके रखते है ।जो की एक प्रकार से computer होते है जो पुरे नेटवर्क को आपस में जोड़ कर रखते है। Blockchain में इसी तरह की कई सारे Node उपलब्ध होते है और हर Node के पास blockchain की copy भी होती है.

Conclusion

इस आर्टिकल में आपको blockchain technology क्या होती है और blockchain क्या है इसके बारे में पूरी जानकारी दी है अगर आप भी what is blockchain technology in hindi के बारे में जानना चाह रहे थे तो आप इस आर्टिकल को पढ़ कर समझ गए होंगे blockchain के बारे में सारी चीजें। इसके अतिरिक्त अगर आप कुछ भी जानकारी चाहते है तो कमेंट सेक्शन में पूछ सकते है।

 67 total views,  1 views today

Leave a Comment